जाना होगा इस दुनिया से दूर.. जहां आत्माओं ने घर बनाया : राखी शुक्ला

कहीं दूर एक रहस्यमयी नगरी
हर चीज़ से अनजान है
कैसी होगी ये नगरी ?
क्या इसकी पहचान है ?

क्या इस दुनिया से परे भी कुछ है ?
इनका उत्तर दे पाया कौन ?
एक बार जो चला गया 
लौट कर आया फिर कौन ?

कहते है आत्मा अमर है
मगर इसकी अमरता देखी है किसने ?
स्वर्ग की तो हमने कल्पना की है
भला इसकी सार्थकता देखी है किसने ?

अगर चाहिए इन प्रश्नों का उत्तर
तो छोड़ कर ये मोह माया
जाना होगा इस दुनिया से दूर
जहां आत्माओं ने घर बनाया

जानके भी इन प्रश्नों के उत्तर
दे ना पाएंगे ज्ञान किसी को
जिज्ञासा की पूर्ति हेतू तय करना है
ये सफर सभी को

कवियत्री : राखी शुक्ला (पटना)

Cresta WhatsApp Chat
Send via WhatsApp
error: Content is protected !!