अंजलि : युवा महिला पत्रकारो की सच्ची प्रेरणा एवं TV9 भारतवर्ष पत्रकार

‘TV9 भारतवर्ष’ के साथ समाचार रिपोर्टर के रूप में काम करने वाली पटना की अंजलि का जन्म चांदी के चम्मच के साथ नहीं हुआ था। अंजलि एक साधारण महिला से समाचार रिपोर्टर तक की सफलता का सफर अपनी प्रतिबद्धता और दृढ़ संकल्प की वजह से तय की है।  अंजलि एक साधारण एवं विनम्र पृष्ठभूमि वाली युवा महिला पत्रकार है जिनकी संघर्ष और सफलता की कहानी युवाओ को खासकर युवा महिला पत्रकारो के भीतर एक प्रेरक एंजाइम का काम करेगी और अपनी सफलता के मार्ग पर अंजलि का अनुकरण उनके लिए सफल पेशेवरों की श्रेणी में शामिल होने में सहायता प्रदान करेगी और वैसे भी जो अंजलि को जानती है वो अंजलि को अपनी सच्ची प्रेरणा मानती है । 

अपनी पारिवारिक पृष्ठभूमि के बारे में अंजलि बताती है की इनके पिता पटना नगर निगम में एक सरकारी कर्मचारी हैं, इनकी माँ हॉस्पिटैलिटी सेक्टर से सेवानिवृत्त हुई है, 3 भाई-बहन में सबसे छोटी अंजलि अपनी सफलता में अपने बड़े भाई के सहयोग एवं मार्गदर्शन को हमेशा याद करती है और अपने बड़ी बहन को अपनी सबसे अच्छी दोस्त मानती है। अंजलि की प्रारंभिक शिक्षा पटना से ही संपन्न हुई इसके बाद इन्होने 10 + 2 आर्य कन्या उच्च विद्यालय, मछुआ टोली पटना से ही पूरा किया इसके बाद आगे की पढ़ाई और पेशे के रूप में इन्होने पत्रकारिता का विकल्प चुना इसके लिए इन्होने डॉ. जाकिर हुसैन संस्थान, बेली रोड, पटना से पत्रकारिता और जन संचार की शिक्षा सफलतापूर्वक प्राप्त की । 

अपने पत्रकारिता पेशे की शुरुआत 2009 में E-Tv बिहार/झारखण्ड से करने वाली अंजलि ने तो अपनी पत्रकारिता की शुरुआत पटना में अध्ययन के दौरान ही कर दी थी जिसके लिए   2014 में इनको कॉलेज में पुरस्कृत भी किया गया, और अभी वर्तमान में अंजलि हिंदी के नए समाचार चैनल ‘टी.वी.9 भारतवर्ष’ में समाचार रिपोर्टर के रूप में कार्यरत हैं । अंजलि शुरू से ही अपनी ताकत और अपने करियर के रास्ते से वाकिफ थी। इसलिए, स्नातक होने के बाद, वह तुरंत समाचार रिपोर्टर के रूप में E-Tv बिहार/झारखण्ड में शामिल हो गई। यह एक संघर्ष करने वाले युवा महिला पत्रकारो के लिए एक सबक है जो वो अंजलि से सीख सकती हैं।  अंजलि अपनी सामाजिक या राजनितिक संबंधित विषयों को मुखरता के साथ जनता के सामने रखने की वजह से भारतीय टीवी एंकर, लेखक और पत्रकार की बिरादरी में एक युवा जोश की प्रतीक बन कर उभर रही है।

पत्रकारिता पेशे के काम में अंजलि काफी उत्साहित एवं सभी घटनाक्रम पे काफी पैनी और तीव्र नज़र रखती है। इनके पास प्रेरणा का एक स्थिर स्रोत है जो इनको अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित करता है। बचपन से असमानता, भेदभाव को देखकर परेशान रहने वाली अंजलि इन सब बुराईयो को खत्म करने की इच्छा ही अपनी पत्रकार बनने की प्रेरणा मानती है। समाज में किसी भी तरह के अन्याय को उजागर करने का सबसे बेहतरीन तरीको में से एक तरीका पत्रकारिता का भी मानते हुए अंजलि ने इस पेशे को चुना। अंजलि समाज के लिए कुछ अच्छा और बेहतर करना चाहती है और मीडिया न्याय के लिए आवाज उठाने के लिए मंच देता है।

पत्रकारिता पेशे में अंजलि अपनी आदर्श पुण्य प्रसून बाजपेयी और स्वेता सिंह को मानती है। बिहार की भलाई के लिए अंजलि के पास काफी योजनाएं हैं जैसे – असमानता, भेदभाव के खिलाफ काम, बालिका शिक्षा के लिए काम, समाज की बेहतरी आदि जिसे ये आने वाले भविष्य में जरूर पूरा करने की इच्छा रखती है। अंजलि अब तक के करियर में कई समाचार घटना को कवर कि है, लोक सभा चुनाव और बिहार / यूपी चुनावों की रिपोर्टिंग को ये अपने लिए यादगार मानती है, इस रिपोर्टिंग से इनको काफी कुछ नया जानने और समझने को मिला।  

अंजलि का शौक पढ़ने में काफी है, ये किसी भी वक़्त अपने खाली समय का सदुपयोग पढ़ने में करती है चाहे पढ़ने का माध्यम अखबार, किताब या वेबसाइट हो लेकिन ये खाली समय में किताबों पर ध्यान केंद्रित करना ज्यादा पसंद करती है। संगीत को अपने जीवन का अनिवार्य हिस्सा मानने वाली अंजलि बताती है की संगीत से मुझे ऊर्जा और प्रेरणा मिलती है, यात्रा के समय में तो संगीत ही सबसे अच्छा दोस्त महसूस होती है जिससे यात्रा की थकान का पता ही नहीं चलता।

पत्रकारिता पेशे में नवोदित और संघर्ष कर रहे युवाओ को सन्देश देते हुए अंजलि का कहना है की “ईमानदारी के साथ कड़ी मेहनत करना बहुत महत्वपूर्ण है लेकिन साथ ही साथ स्मार्ट तरीके से काम करना भी आज के प्रतिस्पर्धात्मक समय की मांग है। जीवन में सफल होने के लिए, व्यक्ति को अपने जुनून के लिए प्रतिबद्ध होना चाहिए। किसी भी चुनौती या बाधा के बावजूद जो हमारे रास्ते में आ सकती है, हमें अपने लक्ष्यों से नहीं डिगना चाहिए।” आगे अंजलि कहती है की – जीवन फूलों की सेज नहीं है; जीवन में ऊंचा उठने के लिए, हम सभी को जोखिम उठाने की जरूरत है और जो अपनी सुख-सुविधाओं का त्याग करने के लिए तैयार हैं, वो ही अंततः भीड़ से बाहर निकलते हैं। आज की युवा अंजलि से बहुत कुछ सीख सकते हैं, जो दृढ़ संकल्प की प्रतीक हैं। 

Cresta WhatsApp Chat
Send via WhatsApp
error: Content is protected !!