जीवन है बचाना तो ड्रग्स और अल्कोहल भूल जाना – डॉ. रितेश

शराब कई परंपराओं का हिस्सा है और अक्सर इसे पार्टियों और अन्य कार्यों में परोसा जाता है।चाहे आप किसी बड़ी पार्टी में हों या किसी छोटे समूह में हों, ड्रग्स या अल्कोहल के लिए “बस ना कहना” ही आपके लिए बेहतर है, कई बार यह विशेष रूप से कठिन है अगर आप जिन लोगो के साथ हैं वह आपके मित्र हैं – या आप कुछ नए रिश्तों को जोडने की तलाश कर रहे हैं। इससे भी बुरी बात यह है कि जिस व्यक्ति को आप पसंद करते हैं वह बोतल को खोलने या शुरू करने के आपको आगाह कर रहा है।।
यदि आप ऐसी स्थिति में हैं जहां कोई आपको शराब या ड्रग्स दे रहा है,

तो यह कोशिश करें:

व्यक्ति को आंखो में देखो , दृढ़ स्वर में, उस व्यक्ति को बताएं जिसे आप ड्रग्स नहीं पीना या उपयोग नहीं करना चाहते हैं।

कुछ ऐसा कहें:-

“नहीं, मुझे क्षमा करें,
“मैं उपयोग नहीं करता हूं ….”
“नहीं, मैं वास्तव में इन सबो से दूर रहने की कोशिश कर रहा हूं।”
“यह मेरे स्वास्थ्य के लिए बुरा है।”
” इससे मैं अपना आपा खो सकता हूं।”
“जब मैं उपयोग करता हूं तो मुझे परेशानी होती है ,
इसलिए मुझसे दोबारा मत पूछे।”
ध्यान रहे अगर किसी के पास ड्रग्स और शराब है तो उनके साथ उसी पल ही छोड़ दें।

शराब और नशीली दवाओं के उपयोग के दुष्प्रभाव हैं:

१.दिल की दर में वृद्धि या कमी
२.मांसपेशियों पर नियंत्रण में परेशानी
३.स्मृति हानि
४.दुख, चिंता या भय अधिक होना
५.ध्यान की कमी
६.श्वांस – प्रणाली की समस्यायें

शराब और नशीली दवाओं का उपयोग आपका जीवन ख़तम भी कर सकता है।


डॉ. रितेश कुमार,
निदेशक – डॉ. रितेश फिजियो केयर, फ्रेजर रोड पटना -800001

Cresta WhatsApp Chat
Send via WhatsApp
error: Content is protected !!