53 साल पहले पटना में शुरू हुआ था रिजर्व बैंक

गांधी मैदान के दक्षिण स्थित भारतीय रिजर्व बैंक पटना के भवन 53 साल पूरा कर लिया है. दिसंबर 1967 ईस्वी में किराये के भवनों में कार्यरत सभी अनुभाग तथा विभाग यहां शिफ्ट होकर कार्य करने लगे. गांधी मैदान के दक्षिण वर्तमान भवन का निर्माण अक्तूबर 1963 से प्रारंभ हुआ, जो चार वर्षों में बनकर तैयार हो गया. इसके वास्तुकार मुंबई के मेसर्स साठे और कोठारी थे. मुख्य और एनेक्सी भवन का कुल क्षेत्रफल 89,660.12 वर्गफीट है, जिसे बिहार इनवेस्टमेंट ट्रस्ट से रुपये 3,51,336.20 में खरीदा गया था.

उस समय भवन निर्माण पर कुल खर्च 1,08,20,892.66 आया था. नोट कैंसिलेशन सेक्शन और कृषि ऋण विभाग कोलकाता कार्यालय के तहत किराये के मकान में काम कर रहा था. कृषि ऋण सेक्शन डाक बंगला रोड स्थित गुप्ता भवन में और नोट कैंसिलेशन सेक्शन गांधी मैदान के पश्चिम स्थित इम्पेरियल बैंक के पटना शाखा में चल रहा था .1959 ईस्वी में पटना रिजर्व बैंक की स्थापना के साथ लोक ऋण कार्यालय और प्रबंधक सेक्शन भी गुप्ता भवन में कृषि ऋण विभाग के साथ कार्य करना प्रारंभ किया. धीरे-धीरे अन्य विभाग खुलते गये. निर्गम विभाग अप्रैल 1968 से प्रारंभ हुआ और अगले दो वर्षों में जमा लेखा विभाग और लोक लेखा विभाग काम करने लगा.

इस भवन में समय-समय पर बदलाव होता रहा. पहले सामने काले कोटा पत्थर के चारों ओर लाल पत्थर लगा था. बाद में यह सब लाल ग्रेनाइट पत्थर से बदल दिया गया. 21 वीं सदी के प्रारंभ में बैंक परिसर के सामने खाली पड़ी जगह को बैंक ने पटना नगर निगम से लेकर खूबसूरत वाटिका में परिवर्तित कर दिया. बाद में सुरक्षा के बढ़ते इंतजाम के तहत गेट के पास स्वागत कक्ष तथा वाच टावर बना. पहले 26 जनवरी और 15 अगस्त में तिरंगा बैंक के छत पर फहराया जाता था, लेकिन वर्ष 1997 के बाद से यह कार्य बैंक परिसर के सामने किया जाने लगा.

पटना में 1959 से भारतीय रिजर्व बैंक, कलकत्ता के अधीन कार्य करने लगा. प्रारंभ में इसके दो विभाग थे, जो किराये के भवन में अवस्थित थे. नोट कैंसिलेसन सेक्सन गांधी मैदान स्थित वर्तमान स्टेट बैंक के पटना शाखा के भवन में था. कृषि ऋण विभाग डाक बंगला रोड स्थित गुप्ता भवन के प्रथम तल्ले पर था. भूतल पर सेंट्रल बैंक का पटना शाखा था.
नोट 🙁 रिजर्व बैंक भी चार माह बाद भी जानकारी उपलब्ध नहीं करा सका.)

सुबोध कुमार नंदन

Cresta WhatsApp Chat
Send via WhatsApp
error: Content is protected !!