“कोविड-19 के प्रभाव पर जल जीवन हरियाली की आवश्यकता” – प्रोo रास बिहारी प्रसाद सिंह

पटना – 08.06.2020 – “कोविड-19 की वैश्विक महामारी ने पूरे मानव-समुदाय को प्रभावित किया है। ऐसे विकट समय में हमें अपने सोच को सकारात्मक रखना होगा l” आज टी. पी. एस. कॉलेज के भूगोल विभाग द्वारा आयोजित ‘वेबिनार’ में “कोविड-19 महामारी का मानव एवं पर्यावरण पर प्रभाव” विषय पर मुख्य वक्ता के रूप में बोलते हुए पटना विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति एवं भूगोल के विद्वान प्रोo रास बिहारी प्रसाद सिंह ने ये बातें कहीं l डॉ. सिंह ने ऑनलाइन व्याख्यान देते हुए कई आंकड़ों के साथ महामारी का मानव एवं पर्यावरण पर प्रभाव का विश्लेषण किया। सेवानिवृत्त कुलपति प्रोफेसर रासबिहारी प्रसाद सिंह ने कहा कि चीन ने कोरोना वायरस के समय में मौका परस्ती की है और दुनिया भर में अपने शेयर अक्टूबर महीने में ही बेच दिए और जब पूरी दुनिया आर्थिक मंदी के दौर से गुजर रही थी तब चीन ने अपनी चालाकी दिखाते हुए कम दाम में सारे शेयर खरीदे इसके अलावा प्रोफेसर राश बिहारी प्रसाद सिंह ने कहा कि अब ऐसी व्यवस्था होनी चाहिए कि हर सामुदायिक जगह पर सैनिटाइजिंग टनल बनाना होगा और बिहार सरकार की जन-जीवन-हरियाली की पहल को जोर-शोर से बढ़ाना होगा l बिहार में जलीयअर्थव्यवस्था पर जोर देना चाहिए और पर्यावरण की देखभाल एवं हरियाली की वृद्धि से कई प्रकार के जीव जंतु को आश्रय प्राप्त होगा तथा वातावरण में वाष्प की मात्रा बढ़ने से वायरस संक्रमण कम होगा l उन्होंने कहा कि भारत में आयुर्वेद एवं मसालों के दैनिक प्रयोग ने यहां के लोगों की इम्यूनिटी को बढ़ाने का काम किया है, भारत हमेशा से इन चीजों में आगे रहा हैl भारत में जैन धर्मावलंबी हमेशा से मास्क का प्रयोग करते आए हैं और वैदिक सभ्यता के अनुसार प्रणाम करना एवं चरण स्पर्श करना शारीरिक दूरी का प्रतीक है l प्रोफेसर सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोनावायरस को ‘अदृश्य योद्धा’ कहा जबकि यह एक ‘अदृश्य घुसपैठिया’ कहा जा सकता हैl उन्होंने कहा कि को रोना काल में लोगों ने बहुत कुछ सीखा है और उनका जीवन कौशल काफी समृद्ध हुआ हैl आर्थिक स्थिति के बारे में उन्होंने कहा कि अगर सही कदम उठाए जाए तो हम वापस अपनी सही स्थिति में बहुत जल्द आ सकते हैं ,इस महामारी का अर्थव्यवस्था पर नकारात्मक परंतु पर्यावरण पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा है। वेबिनार का आरम्भ टी. पी. एस. कॉलेज के भूगोल विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. उदय कुमार के स्वागत-भाषण से हुआ l इस वेबिनार में बड़ी संख्या में शिक्षक एवं छात्र-छात्राएँ सम्मिलित हुए, जिनमें प्रमुख हैं – डॉ. श्यामल किशोर, डॉ. नवेनदु शेखर, डॉ. अंजलि प्रसाद, डॉ. कृष्णनंदन प्रसाद, डॉ. जावेद अख्तर खाँ, डॉ. ज्योतसना, डॉ नूतन कुमारी, डॉ विनय भूषण, डॉ. प्रशांत कुमार, दीपिका शर्मा आदि अन्य महाविद्यालय एवं विश्वविद्यालय के प्रोफेसर, रिसर्च स्कोलर, विधाथीॅ l अध्यक्षीय वक्तव्य देते हुए महाविद्यालय के प्रधानाचार्य प्रो. उपेन्द्र प्रसाद सिंह ने बताया कि इस आपदा के समय में भी हम अकादमिक स्तर पर निरंतर सक्रिय रहने का प्रयास कर रहे हैं, महाविद्यालय के सभी विभाग “कोविड-19 महामारी : उसका मानव एवं पर्यावरण पर प्रभाव” पर केन्द्रित ऑनलाइन व्याख्यान एवं वेबिनार आयोजित कर रहे हैं l धन्यवाद-ज्ञापन प्रोo रूपम ने किया, वेबिनार का संचालन भूगोल विभाग के मनु कुमार ने किया l

–प्रो.(डॉ.) उपेन्द्र प्रसाद सिंह, प्रधानाचार्य, टी. पी. एस. कॉलेज, पटना ।

Cresta WhatsApp Chat
Send via WhatsApp
error: Content is protected !!