लंदन से पैराशूट इंट्री लेने वालों का बिहार में कोई जगह नहीं – हिमांशु

पुष्पम प्रिया पर छात्र नेता हिमांशु ने साधा निशाना, कहा लंदन से पैराशूट इंट्री लेने वालों का बिहार में कोई जगह नहीं।

विश्वविद्यालय से निकलेगा विकल्प, इस बार बिहार का मुख्यमंत्री कोई छात्र नेता ही बनेगा : हिमांशु

बिहार विधानसभा चुनाव नज़दीक आने के साथ ही बिहार के सियासत में ज़ुबानी जंग तेज़ होती जा रही है। लगातार विरोधी पार्टी के नेता एक दुसरे पर तिखी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। इसी बिच पटना विश्वविद्यालय के छात्र नेता हिमांशु कुमार सिंह ने भी पुष्पम प्रिया चौधरी को आड़े हाथों ले लिया है। पुष्पम प्रिया लंदन में रहती हैं, पढाई भी वहीं से की है। अब तक बिहार के पॉलिटिक्स में वो मिस्ट्री गर्ल बनी हुई हैं। पुष्पम प्रिया ने खुद को 2020 विधानसभा चुनाव का मुख्यमंत्री प्रत्याशी भी घोषीत किया है।

हिमांशु ने पुष्पम पर निशाना साधते हुए कहा है कि बिहार ज़मीनी नेताओं को नेतृत्व सौंपने वाली धरती है यहाँ कोई लंदन से पैराशूट इंट्री लेकर नेता नहीं बन सकता। पुष्पम प्रिया जैसे लोग वार्ड पार्षद का चुनाव जितने की हैसियत नहीं रखते मुख्यमंत्री बनना तो दुर की बात है। हिमांशु ने यह भी कहा है कि बिहार को नये विकल्प की ज़रूरत ज़रूर है मगर वो नया विकल्प विश्विद्यालय से निकल कर आएगा। हिमांशु ने साफ़ लहज़े में कहा है कि इस बार बिहार का मुख्यमंत्री कोई छात्र नेता ही बनेगा।

हिमांशु के इस ब्यान के कई मायने हैं। पटना विश्वविद्यालय के छात्र राजनीति का काफ़ी बड़ा चेहरे होने के साथ साथ इन्हें बाहर भर में कद्दावर छात्र नेता के तौर पर भी देख जाता है। हिमांशु का पटेल समाज के युवाओं की बिच भी काफ़ी क्रेज़ है। हिमांशु नालंदा के डिहरी से निर्वाचित पैक्स अध्यक्ष भी हैं। फ़िलहाल हिमांशु ‘आप’ की छात्र विंग सीवाईएसएस के राज्य संरक्षक के पद पर भी कार्यरत हैं।

Cresta WhatsApp Chat
Send via WhatsApp
error: Content is protected !!