स्वच्छ होगा पर्यावरण तभी खुशहाल होगा हमारा जीवन – डॉ. रितेश कुमार

शांतिपूर्ण और स्वस्थ जीवन जीने के लिए स्वच्छ वातावरण बहुत ही आवश्यक है। लेकिन इंसानों की कुछ लापरवाही के कारण हमारा पर्यावरण दिन-प्रतिदिन गंदा होता जा रहा है। यह एक ऐसा मुद्दा है जिसके बारे में हर किसी को विशेष रूप से ध्यान देने की आवश्यकता है ।

जैसा कि हम सभी पर्यावरण से अच्छी तरह से परिचित हैं, यह सब कुछ है जो हमें स्वाभाविक रूप से घेरता है और पृथ्वी पर हमारे दैनिक जीवन को प्रभावित करता है।हवा जो हम हर पल सांस लेते हैं, पानी जो हम अपनी दिनचर्या, पौधों, जानवरों और अन्य जीवित चीजों के लिए उपयोग करते हैं, और कई ऐसी ही चीजे, जब प्राकृतिक चक्र बिना किसी गड़बड़ी के कंधे से कंधा मिलाकर चलता है ,तो पर्यावरण को स्वस्थ वातावरण कहते है , प्राकृतिक संतुलन में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी पर्यावरण को पूरी तरह से प्रभावित करती है जो मानव जीवन को बर्बाद कर देती है।
एक पर्यावरण प्राकृतिक परिवेश है जो जीवन को पृथ्वी नामक इस ग्रह पर बढ़ने, पोषण और नष्ट करने में मदद करता है। प्राकृतिक पर्यावरण पृथ्वी पर जीवन के अस्तित्व में एक महान भूमिका निभाता है और यह मनुष्य, जानवरों और अन्य जीवित चीजों को स्वाभाविक रूप से विकसित करने में मदद करता है। लेकिन मानव की कुछ बुरी और स्वार्थी गतिविधियों के कारण हमारा पर्यावरण प्रभावित हो रहा है। यह सबसे महत्वपूर्ण विषय है कि हर किसी को यह जानना चाहिए कि हमारे पर्यावरण की रक्षा कैसे करें ताकि इसे हमेशा के लिए सुरक्षित रखा जा सके और साथ ही इस ग्रह पर जीवन के अस्तित्व को बनाए रखने के लिए प्रकृति के संतुलन को सुनिश्चित किया जा सके।

पर्यावरण की मदद करने के कुछ सरल तरीके:-

१.पौधा रोपण करे और पौधों को काटने से बचाए

२.जल बचाएं और जल का संचय करे

३.बिजली बचाएं और ज्यादा दिन चलने वाले उपकरणों का इस्तेमाल करे।

४.पुन: प्रयोग बैग का उपयोग करें। प्लास्टिक से बने बैग के इस्तेमाल ना करे, कपड़े से बने बैग का इस्तेमाल करे

५.जितना आवश्यक हो उतना कम से कम प्रिंट करें।

६.रीसायकल। एक पुन: उपयोग योग्य पेय कंटेनरों का उपयोग करें। …

७. कम दूरी जाने आने के लिए वाहनों को प्रयोग करने से बचें

८.अपने आसपास गंदगी ना फैलाए

९. प्रदूषण कम करे।

१०.लोगो को जागरूक करे

विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर आप मेरे साथ ये प्रण करे कि पर्यावरण को स्वच्छ और सुरक्षित रखेंगे ,और अपना कुछ वक़्त प्रकृति और पर्यावरण को भी देंगे। क्यूंकि स्वच्छ होगा पर्यावरण तभी खुशहाल होगा हमारा जीवन।

लेखक : डॉ. रितेश कुमार (पीटी)
निर्देशक – डॉ. रितेश फिजियो केयर, फ्रेजर रोड, पटना

Cresta WhatsApp Chat
Send via WhatsApp
error: Content is protected !!