शिखा सिंह राजपूत : उभरती हुई गायिका और एक सफल महिला व्यवसायी

यूं तो आज बिहारी महिलायें जीवन के प्रत्येक कार्यक्षेत्र में अपनी सफलता का परचम लहरा रही हैं और जीवन के प्रत्येक क्षेत्र के विकास में अपना महत्वपूर्ण योगदान दे रही हैं। लेकिन, जब बिहार के संगीत एवं कॉरपोरेट जगत की बात चलती है तो यहां भी बिहारी महिलाओं ने अपनी काबिलियत और कठोर परिश्रम से अपनी खास पहचान बनाई है। हौसला है अगर तो दुनिया का कोई काम नामुमकिन नहीं हो सकता है, जानिए  बिहार के सहरसा जिले में जन्मी और अभी वर्तमान में पटना जिन्‍होंने में अपनी पहचान एक उभरती हुई गायिका एवं एक सफल महिला व्यवसायी के रूप में स्थापित कर चुकी शिखा सिंह राजपूत  संगीत और गायिकी की दुनिया  के साथ-साथ  बुटीक और सैलून  व्यवसाय   सफलता की नई इबारत लिख दी है ।  बचपन से वकील या डॉक्टर बनने की सोचने वाली शिखा के साथ वक़्त ने ऐसा करवट लिया की बचपन के सपने कही खो गए और इंसान जाना चाहता है कही लेकिन पहुँच जाता है कही, इंसान पाना चाहता है कुछ लेकिन पा लेता है कुछ जैसा इनके ज़िंदगी में होते चला गया। लेकिन क्षेत्र कोई भी हो जब इरादा पक्का हो तो बड़ी से बड़ी दीवार भी गिर जाती है। आप लोगों को सिर्फ ऐसा कहते सुना होगा लेकिन शिखा ने इसे साबित करके दिखाया है।  शिखा का परिचय पेशेवर बहुमुखी सिंगर, मां शीला फैशन मार्ट की मालकिन, बी 2 एस हेयर एंड ब्यूटी केयर की मालकिन, मानव अधिकार और सामाजिक न्याय मिशन में राज्य सचिव, रिकॉर्डिंग स्टूडियो में प्लेबैक सिंगर, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में स्वयंसेवक।

 दो छोटे भाइयो की बड़ी बहन और अभी तक अपने खानदान की एकलौती लड़की शिखा की माँ की मृत्यु 2009 में कैंसर जैसी बिमारी की वजह से हो गयी। इनके पापा एक व्यवसायी है और कला एवं संगीत से भी जुड़ाव रखते है। शिखा बचपन से अपने पापा का लगाव संगीत की ओर देखते हुई बड़ी हुई। कुछ पारिवारिक उलझनों और समस्याओं की वजह से आगे की पढ़ाई नहीं हो पायी।  जे. डी. विमेंस कॉलेज से इंटर फिर ए. एन. कॉलेज से स्नातक की पढ़ाई खत्म होते ही शादी के बंधन में बँध गयी। शिखा अपने पापा के साथ ही हारमोनियम बजाते हुए और उनको गाते देखते हुए गायन की बारीकियां सीख ली। बाद में संगीत एवं गायन की आगे की शिक्षा के लिए रविंद्र भवन, पटना में सुब्रतो बनर्जी के साथ जुड़ गयी। शिखा हिंदी, भोजपुरी, मैथिलि, अंगिका, मगही, पंजाबी, बँगला और इंग्लिश भाषा में गाना गाती है। आशा भोसले, अलका याग्निक, अनुराधा पौडवाल को गायन में अपना आदर्श मानने वाली शिखा का सपना है की वो एक बार प्रसिद्द गायक कुमार शानू के साथ गाना गाये।

जैसे-जैसे शिखा सफलता प्राप्त करते हुए आगे बढ़ रही है उनकी पहचान बढ़ते जा रही है । अब शिखा को सरकारी एवं गैर-सरकारी कार्यक्रमों में निर्णायक की भूमिका का निर्वहन करने के लिए भी आमंत्रित किया जाने लगा है । शिखा ने कुछ भोजपुरी भजन एल्बम के लिए भी गाना रिकॉर्ड किया है । इसके अलावा शिखा बिहार और झारखंड के बहुत से कार्यक्रमों में अपनी प्रस्तुति देते आ रही है और इसके लिए इनको सम्मानित भी किया गया है । शिखा की इच्छा और प्रयास है की वो आगे चलकर बिहार और झारखंड के अलावा भारत के सभी राज्यों में भी अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करें और अपनी प्रस्तुति दे और अपनी संगीत एवं कला के बदौलत अपना, अपने माता-पिता, अपने गुरुओं और अपने राज्य बिहार का नाम रौशन करें। शिखा के पति का इनके सफलता में बहुत बड़ा योगदान रहा है, वो शिखा को आगे बढ़ने के लिए काफी उत्साह बढ़ाते है और साथ भी देते है, यही वजह है की इतने समस्याओ के बावजूद शिखा आगे बढ़ते गयी |

शिखा युवाओं को सन्देश देते हुए बोलती है की “याद रखें कि सफलता की राह आसान नहीं है लेकिन, अगर आप पहला कदम ही नहीं उठाएंगे तो अपनी मंजिल तक कैसे पहुंचेंगे?”  शिखा आगे बताती है की “जीवन में कठिनाइयाँ हमे बर्बाद करने नहीं आती है, बल्कि यह हमारी छुपी हुई सामर्थ्य और शक्तियों को बाहर निकलने में हमारी मदद करती है| कठिनाइयों को यह जान लेने दो की आप उससे भी ज्यादा कठिन हो। छोटे छोटे कदम बढ़ाते जाओ और आगे बढ़ते जाओ, यही सफलता का नियम है। अपने अंदर ईमानदारी का होना बहुत जरूरी है, अगर हम खुद के साथ ईमानदार है तो जीवन के किसी न किसी पड़ाव में सफल हो ही जाएंगे । जिंदगी में भी सफलता तभी मिलती है जब आप ये दो बाते मानकर चलते हो। पहली कि आपको सफलता जरूर मिलेगी और दूसरी कि आप तब तक मेहनत करेंगे जब तक की आपको सफलता नहीं मिल जाती, वो कहते है न कि अगर आपको अपना लक्ष्य नहीं मिल रहा है तो आप अपना लक्ष्य मत बदलिए आप अपना प्रयास करने का तरीका बदलिए जिस दिन आपने अपने प्रयास करने का तरीका बदल दिया हो सकता है कि उस दिन लक्ष्य आपके आस पास ही कहीं हो। इसलिए जिंदगी मैं मेहनत करते रहिये हिम्मत मत हारिये आपको जरूर सफलता मिलेगी।

आशा है कि शिखा के प्रेरक प्रसंग आपको अपने उद्यमशीलता के सपने साकार करने हेतु कड़ी मेहनत करने के लिए प्रेरित करेंगे।

  

 

शिखा द्वारा गाये हुए भोजपुरी भजन अल्बम

Cresta WhatsApp Chat
Send via WhatsApp
error: Content is protected !!