डॉ रूचि का मंत्र… “सकारात्मक सोच – सफलता की राह”

डॉक्टर रूचि एक आयुर्वेदिक डॉक्टर है जो इस आलेख के माध्यम से अपने अंदर सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह कैसे करे के बारे में बता रही है – 

डॉक्टर रूचि का कहना है की  कभी आपने सोंचा है के हम सभी कलाकार हैं, ईश्वर ने हम सभी को कलाकार बना कर और ये इख्तेयार दे कर भेजा है की हम अपने जीवन को अपने मन मुताबिक़ तराश सकें । ऐसा करने का दारोमदार हमारी सोंच पे है, हम जैसा सोंचते हैं हमारा जीवन वैसा ही बनता है ।  हमारी सोंच के दो प्रकार है, नकारात्मक और सकारात्मक यानी negative और positive । निराश हो कर नकारात्मक बातें मन में आने लगें तब आप नाकामी की ओर जाने लगते हैं, वहीँ दूसरी तरफ सकारात्मक सोंच और बातें हमें कामयाबी या सफलता की तरफ ले जातीं हैं l हम जैसा सोंचते हैं वैसा ही काम करते हैं और काम का नतीजा भी वैसा ही होता है l सोंच पर कई सारे शोध किये गए और नतीजे ये सामने आया की हमारी सोंच हमारी कार्यक्षमता को प्रभावित करती है और कहाँ भी गया है की , A negative mind will never give you a positive life.

हमारे आस-पास ऊर्जाएं यानी की energies होती हैं जो दो प्रकार की होती हैं, नकारात्मक और सकारात्मक, हमें समझना है की हमारी सोंच जैसी होगी वैसी ही उर्जा हम ग्रहण करेंगे ।   हमारा दिमाग बहुत शक्तिशाली और मज़बूत होता है, इसे यदि हम सकारात्मक सोंच से भर दें तो हमारा जीवन बदलने लगता है ।  

डॉक्टर रूचि जानकारी देती है की शोध बताते हैं की हमारे दिमाग में दिन के चौबीस घंटों में करीब 80 हज़ार विचार आते हैं और ये विचार अगले दिन फिर से दुबारा हमारे दिमाग में आते है, इन विचारों में से करीब 90% विचार अगले दिन पुनः प्रकट होते हैं तो इस शोध के मुताबिक आप सोंचिये कि हमारी सोंच अगर अधिक मात्र में सकारात्मक हैं आज के दिन तो अगले दिन यानी कल भी ये सोंच सकारात्मक ही होगी और यदि हमारी ये सोंच आज बहुत ज्यादा नकारात्मक है तो अगले दिन भी ये सोंच नकारात्मक बनी रहेगी और ये सिलसिला चलता रहता है ।  

अब बात ये है की इतनी मुसीबतें हैं, तकलीफें हैं, ज़द्दोज़हद है, भागदौड़ है, ऊपर से हम इंसान हैं तो इतनी सारी सकारात्मकता खुद में कैसे ला पायेंगे, तो इसके बहुत सारे तरीके हैं ।  आइये उन तरीको के बारे में जानते हैं, जो हमारे मन को सकारात्मकता से भर दे – 

— खुद को सकारात्मक विचारों से भरने में जो तरीके आपकी मदद करेंगे उनमें से सब से पहला तरीका है की हमें ये सोंचना चाहिए की हमारी ज़िन्दगी में कई सारी नेमतें हैं जो आपको मिली हुई हैं और जो बहुतों को हासिल नही हैं और ईश्वर को इसके लिए शुक्रिया करें ।

— दूसरी बात ये की हमें हर बात में तर्क देने की आदत होती है, हमें ये ज़रूर समझना होगा की तर्क और कुतर्क में अंतर होता है l जब तक हम तर्क के दायरे में रहतें हैं तो रचनात्मक चीज़ें हम निकाल कर लाते हैं लेकिन जब तर्क, कुतर्क बन जाता है तो सिवाय विनाशकारी और नकारात्मकता के कुछ हासिल नही होता, इसलिए बेकार की बहस से बचें ।

— तीसरी बात यह हैं की हम हमेशा अच्छे लोगों से जुड़ें, उनलोगों के साथ समय बिताएं जिनके साथ आपको ख़ुशी मिलती है, जिनका साथ आपको ख़ुशी दे l इसका सबसे आसान तरीका है की आप अपना अधिक समय बुजुर्गों या बच्चों के साथ बिताएं, बुजुर्गों के पास अपनी ज़िन्दगी के बहुत सारे तजुर्बे होते हैं जो हमारी ज़िन्दगी को आसान बना सकतें हैं, जिनमें आपकी परेशानियों का हल हो सकता है और साथ ही बच्चों की मासूमियत आपको आपके तनाव से मुक्त कर देगी ।

— चौथा तरीका है की अपनी सोंच का दायरा बढ़ाएं, परेशानियों के बजाय उनके हल का सोंचें क्यूंकि जीवन है तो परेशानियाँ लगी रहनी हैं ।

— पांचवा उपाय है की हर रोज़ कुछ नया करें, रचनात्मक कार्य करें तो आप नकारात्मकता से दूर रहेंगे ।

— छठा तरीका है के अच्छी किताबें पढ़ें , अच्छी किताबें आपको जीवन को आसान बना देंनें के कई उपाय बता देती हैं साथ ही आपको प्रेरणा देती हैं ।

— सातवां तरीका सबसे दिलचस्प है और आपने इसे किया भी होगा लेकिन इस बार जब आप ऐसा करें तो गौर कीजियेगा अपने भीतर हो रहे बदलावों पर, इसमें आपको करना ये है की आपको खुद के लिए समय निकालना है, खुद का ख्याल रखना है l जब आप खुद का ख्याल रखतें हैं, अच्छे दिखने की कोशिश करते हैं, अपने ऊपर ध्यान देते हैं, खुद के लिए समय निकालते हैं, अपने पसंद की चीज़ें करते हैं तो आप भीतर से स्वयं को खुश पाते हैं और ये ख़ुशी आपकी सारी नकारात्मकता को ख़त्म कर देती है, तो अपने चेहरे पर मुस्कराहट को सजा लीजिये । ये जो आपकी मुस्कराहट है वो आपको सकारात्मक बनाने में मदद करेगी ।

डॉक्टर रूचि के द्वारा बताये गए उपरोक्त सात उपाय हैं या आप कहें जादुई ट्रिक्स हैं और ये आपकी दुनिया को सकारात्मक बनानें में मदद करते हैं । तो खुद में सकारात्मक परिवर्तन का श्री गणेश आज से ही कीजिये, इन बातों को स्वयं के भीतर स्थान दें और सकारात्मक उर्जा से भर अपना और दूसरों का जीवन भी सकार्त्मकता सकारात्मकता की रौशनी से भर दें ।

लेखिका : डॉक्टर रूचि एक आयुर्वेदिक डॉक्टर है जो अपने यूट्यूब चैनल “HealingVeda by. Dr. Ruchi” के माध्यम से भी लोगों में स्वास्थ्य और सौंदर्य के प्रति जागरूक करती है। स्वास्थ्य और सौंदर्य पर विभिन्न पोर्टल, पत्र और पत्रिकाओं में इनका लेख प्रकाशित होता है। साथ ही डॉक्टर रूचि स्वास्थ्य और सौंदर्य के प्रति आकाशवाणी के माध्यम से भी लोगों में जागरूकता फैलाती है।

Cresta WhatsApp Chat
Send via WhatsApp
error: Content is protected !!