ऊर्जा और मन कैसे काम करता है… जानिए योग गुरु प्रियंका से

एक बार जब आप जान लेते हैं कि मन कैसे काम करता है, तो आप इसे नियंत्रित कर सकते हैं और एक बार जब आप इसे नियंत्रित करते हैं, तो आप इसे केंद्रित कर सकते हैं। यदि आप अपने मन को नहीं समझते हैं तो आप ध्यान केंद्रित या एकाग्र नहीं कर सकते।

हमारे पास प्रत्येक दिन केवल सीमित ऊर्जा होती है, हमें उस ऊर्जा को सभी लोगों और उन चीजों के बीच विभाजन करने की आवश्यकता होती है जिन्हें आप प्यार करते हैं। थर्मस डायनामिक (thermos dynamic law) का नियम बताता है कि आप ऊर्जा नहीं बना सकते और नष्ट नहीं कर सकते, लेकिन आप इसे दूसरे में स्थानांतरित कर सकते हैं। ऊर्जा सीमित संसाधन है जिसे बुद्धिमानी से प्रबंधन और बुद्धिमानी से निवेश किए जाने की आवश्यकता है। लोगों को ऊर्जा को उसी तरह व्यय करना चाहिए जिस तरह से वे पैसे को व्यय करते हैं। लोग विचलित होने में अच्छे हैं क्योंकि वह यही अभ्यास कर रहें है। यह अभ्यास का नियम है , हम जो भी अभ्यास करते हैं, उसमें अच्छे हो जाते हैं। चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक, इससे कोई फर्क नहीं परता। यदि आप बार-बार किसी चीज का अभ्यास करते हैं तो आप वास्तव में अच्छे बन जाते हैं। और इसीलिए लोग व्याकुलता में अच्छे हैं क्योंकि वह यही अभ्यास कर रहें है। फिर लोग कहते हैं, प्रौद्योगिकियां (technologies) बहुत विचलित करने वाली हैं।

दो चीजें हैं जो आपको समझने की जरूरत है। एक है जागरूकता और एक है मन। जागरूकता प्रकाश की एक चमकती गेंद की तरह है जो चारों ओर तैर सकता है। अब अपने मन को एक विशाल अंतरिक्ष, विशाल क्षेत्र के रूप में कल्पना करें जिसमें कई अलग-अलग खंड हैं। मन का एक क्षेत्र क्रोध, ईर्ष्या, खुशी, आनंद, विज्ञान, कला है और जागरूकता की यह चमकती हुई गेंद मन के भीतर यात्रा कर सकती है और यह मन के किसी भी क्षेत्र में जा सकती है और जब वह किसी विशेष क्षेत्र में जाती है मन का क्षेत्र यह उस क्षेत्र को रोशन करता है। जब यह आपके मन के उस क्षेत्र पर प्रकाश डालता है, तो आप इसके प्रति सचेत हो जाते हैं। हम अपने आस-पास के लोगों और चीजों को अपनी जागरूकता को मन के एक क्षेत्र से दूसरे क्षेत्र तक ले जाने की अनुमति देते हैं। एकाग्र होना एक समय की विस्तारित अवधि के लिए किसी एक चीज़ पर अपनी जागरूकता रखने में सक्षम होना है।

हम इसका अभ्यास कैसे करते हैं? हम दिन भर में एक समय पर एक काम करके यह अभ्यास करते हैं। एकाग्रता विकसित करने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि उस अभ्यास को हमारे रोजमर्रा के जीवन में लाया जाए। अपने आप में अवसरों को देखो।

लेखिका : प्रियंका, श्री श्री योग शिक्षिका, आर्ट ऑफ़ लिविंग, पटना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Cresta WhatsApp Chat
Send via WhatsApp
error: Content is protected !!